पाइप प्लांट कर्मियों ने अपने कौशल से बनाई जगह

जागरणसंवाददाता,राउरकेला:राउरकेलाइस्पातसंयंत्रकेपाइपप्लांटकर्मीसमूहनेदेशभरमेंमांगकोपूराकरनेकेलिएपहलीबारविभिन्नमोटाईरेंजकेपाइपोंकानिर्माणकरखुदकेलिएएकजगहबनाईहै।स्थापनाकेबादपहलीबारइतनेमोटाईवालेईआरडब्ल्यूपाइप(5.0/6.0/6.9)मिमी3457.2मिमी(18ओडीयानीबाहरीव्यास)और(6.3/7.9)3355.6मिमी(14ओडी-बाहरीव्यास)एपीआइग्रेड-बी-पीएसएल-1केउच्चडी/टीऔरकड़ेलंबाईप्रतिबंधपाइपोंकानिर्माणकिया।मिजोरमसरकारकोदोअलग-अलगविशिष्टरेंजकेक्रमश:25किलोमीटरऔर18किलोमीटरपाइपकीआपूर्तिकीगईहै।इसीतरहकर्नाटक,पश्चिमबंगालऔरमिजोरमसरकारको54किलोमीटरउच्चव्यास/मोटाईअनुपातपाइपकीआपूर्तिकीहै।इसकेअलावाविभागनेकर्नाटकऔरमिजोरमसरकारको86किलोमीटरलंबेडी/टीपाइपकीभीआपूर्तिकीहै।कुलप्रेषणमिलाकर49278टनपाइपथे।नकलीदवारोकवफर्जीचिकित्सकोंपरहोकार्रवाई:कुसुम:कोरोनामहामारीकेचलतेग्रामीणक्षेत्रकेलोगोंकोरोजगारनहींमिलनेसेउनकीआर्थिकस्थितिदयनीयहोनेहोगईहै।अतिगरीबपरिवारकेलोगोंकोसेवाभावीसंगठनसेवककीओरसेराशनकेसाथकोरोनासेबचाववालीसामग्रीकिटकावितरणकियागया।साथहीग्रामीणक्षेत्रकेलोगखेतीकरसकें,इसकेलिएमुफ्तमेंविभिन्नसब्जियोंकेबीजमुहैयाकराएजारहेहैं।

सेवककीओरसे11व12जूनकोबालीशंकराब्लाककेतुमलिया,तिलडेगा,कुसुमुरा,तिलेइकानी,बी.करुबहाल,सागबहाल,वनडेगा,लुलकीडीहपंचायतके27गांवोंमेंगरीबमहिलाओंकेबीचकिटबांटागया।इसमेंसूखाचावल,दाल,तेल,सोयाबिन,गुड़,नमकमशालाआदिआवश्यकसामग्रीशामिलहैं।जीविकाआरंभकरनेकेलिएलोगोंकेबीचसब्जीबीजकाभीवितरणकियागया।इसदौरानकोरोनासेबचावकेलिएमास्कपहनने,हाथधोने,शारीरिकदूरीबनाने,टीकालेनेकेप्रतिलोगोंकोजागरूककियागया।ट्रिकअपकेकार्यकर्ताटिकेश्वरपटेल,बालीशंकराब्लाकओडिशाजीविकामिशनकेप्रोग्राममैनेजरअरविदनायककेसाथसेवककेसंयोजकदिगंबरउपाध्याय,क्षेत्रसंयोजकअरुणभगत,दिव्यासोरेंग,धरित्रीकालो,मनोजदानी,अर्जुनमहाकुड़,बबीतामहानंद,हरीशभोई,राजकुमारध्रुवाआदिनेसहयोगकिया।इसबीचढाईसौपरिवारोंकोसब्जीकेबीजतथापांचसौपरिवारोंकोराशनकिटएवंकोरोनाबचावकेलिएजरूरीसामानप्रदानकियागया।