डाक्टर लिख रहे हैं ब्रांडेड दवाइयां, जन औषधि केंद्र सिर्फ नाम का

जागरणसंवाददाता,रूपनगर

रूपनगरसिविलअस्पतालकीओपीडीमेंडाक्टरोंद्वाराआनेवालेमरीजोंकोताबड़तोड़तरीकेसेब्रांडनेमकेसाथदवाएंलिखरहेहैं।कोईपूछनेवालानहींहैऔरकोईटोकनेवालानहींहै।अस्पतालमेंआनेवालेमरीजबसआरामचाहतेहैंऔरउन्हेंयेनहींपताहोताकिजोदवाएंडाक्टरउन्हेंस्वस्थकरनेकेलिएलिखरहेहैंउनदवाओंकाअगरवोसाल्टलिखेंतोउन्हेंवोदवाएंआधेसेभीआधेरेटमेंउपलब्धहोसकतीहैं।

जीहां,हालातयेहैंकिकोईहीऐसाडाक्टरहोगाजोसाल्टनेमकेसाथपर्चीपरदवालिखताहो।अधिकतरडाक्टरसाल्टकेबजायब्रांडनेमलिखनाज्यादापसंदकरतेहैं।येब्रांडनेमवालीदवाएंमार्केटमेंमहंगीमिलतीहै।मरीजऔरउसकेतीमारदारकोमजबूरीमेंयेदवाएंखरीदनीपड़तीहैंक्योंकिडाक्टरसाथमेंयेजरूरकहदेताहैकियहीदवाएंमर्जकोदूरकरेंगी।दैनिकजागरणनेजोपड़तालकीवोआश्चर्यजनकनिकली,कलतकतोस्वास्थ्यअधिकारीतकयेकहतेरहेकिडाक्टरअबसाल्टलिखनेलगेहैं,लेकिनऐसादेखनेकोनहींमिला।विधायककीहिदायतकाअसरनहीं

रूपनगरकेविधायकएडवोकेटदिनेशचड्ढानेडाक्टरोंऔरस्वास्थ्यविभागकेस्टाफकेसाथबैठककरकेजनहितमेंसाल्टलिखनेसमेतअन्यहिदायतेंजारीकीथींलेकिनउनहिदायतोंकाअसरकमहीदिखाईदेताहै।जबकिविधायकचड्ढालगातारजिलास्वास्थ्यअधिकारियोंकेसाथसंपर्कमेंरहकरइलाकेकेलिएस्वास्थ्यसेवाएंबेहतरकरनेकाप्रयासकररहेहैं।एकदोदवाएंहीअस्पतालसेमिलीबाकीबाहरसे:संदीपकुमार

अस्पतालकीओपीडीमेंदवालेनेपहुंचेकंधोलाटप्परियांकेसंदीपकुमारअपनीपत्नीनीलमगर्भवतीहैऔरउसकेसहीइलाजकेलिएअस्पतालनियमआताहै।वोबताताहैकिजोमहिलाडाक्टरदवाएंलिखतीहैंउसमेंसेएकदोहीअस्पतालमेंसेमिलतीहैंबाकीबाहरबाजारसेखरीदनीपड़तीहै।

इन्हेंमिलीजनऔषधिकेंद्रसेदवा

रूपनगरकेबलबीरसिंहनेबतायाकिउसकेपिताहंसराजदुर्घटनामेंघायलहोगएउनकोजोदवाएंडाक्टरनेलिखीहैंवोअस्पतालकेजनऔषधिकेंद्रसेमिलगईहैं।

यूरिकएसिडकीदवाबाहरसेखरीदी:लखबीरसिंह

मालेवालसेसिविलअस्पतालआएलखबीरसिंहनेबतायाकिउसकीपत्‍‌नीकमलप्रीतकौरकोयूरिकएसिडकीशिकायतहै।वोउसकेइलाजकेलिएआर्थोस्पेशलिस्टकेपासआएहैं।डाक्टरनेउन्हेंजोदवाएंलिखीहैंवोबाहरमार्केटसेमिलीहैं।

ज्यादातरदवाएंबाहरसेमिलतीहैं:गुरदीपसिंह

रंगीलपुरसेआएगुरदीपसिंहनेबतायाकिवोअपनीपत्नीसुरिदरकौरकीगठियाकीबीमारीकीदवाकेलिएएमडीमेडिसिनडाक्टरकेपासआयाहै।जोदवाएंडाक्टरलिखताहैउसमेंअधिकतरदवाएंबाहरमार्केटसेखरीदनीपड़तीहै।

अस्पतालसेनहींमिलतीदवाएं:अंजू

गांवबूरमाजरासेआएसिविलअस्पतालआईंमहिलाएंअंजूऔरबाबीनेबतायाकिअस्पतालकेडाक्टरजोदवाएंलिखतेहैंवोअस्पतालमेंसेनहींहैं।अंजूनेकहाकिउसकेगलेमेंइंफेक्शनहैऔररोटीतकखानेमेंपरेशानीहोतीहै।बाबीनेकहाकिउसेथाईराइडकीसमस्याहैऔरसंबंधितडाक्टरहीनहींमिला।

दोबजेहीबंदहोगयाजनऔषधिकेंद्र:केवलकृष्ण

मरसालीकेकेवलकृष्णऔरताजोवालसेभूपिदरसिंहनेकहाकिशरीरकेअंगसुन्नरहतेहैं।इसकीदवालेनेकेलिएसिविलअस्पतालआएहैं।जोदवाएंडाक्टरनेलिखीवोजनऔषधिकेंद्रदोपहरदोबजेबंदहोनेकीवजहसेनहींमिलीं।